दरभंगा – मोब्लिंचिंग के खिलाफ निकाले गए जुलूस को जाप का मिला समर्थन

दरभंगा – मोब्लिंचिंग के खिलाफ निकाले गए जुलूस को जाप का मिला समर्थन

Desk।।dbn news।।
दरभंगा,बिहार
6 July 2019

दरभंगा – मोबलिंचिंग के खिलाफ मौन जुलूस को मुख्य रूप से बेदारी कारवां ,अंजुमन ए करवाने मिल्लत,और अंजुमन खुद्दाम ए मिल्लत ने अगुवाई की जहां दरभंगा कमिशनरी के लोगों ने भाग लिया। जुलूस को जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक दरभंगा ने पूरा समर्थन दिया । इस मौके पर जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक दरभंगा के पूर्व जिला अध्यक्ष डॉक्टर अब्दुल सलाम उर्फ मुन्ना खान ने कहा कि बिहार के बेगूसराय में एक मुसलमान का नाम पूछकर उसको गोली मार देना यह कहां का इंसाफ है… और दूसरी ओर झारखंड में जो घटना तबरेज अंसारी के साथ घटी वो देश को शर्मसार करती है,, शहीद तबरेज के कातिल सिर्फ भगवा आतंकी ही नहीं वहां की पुलिस और वहां के डॉक्टर बराबर के जिम्मेदार हैं उन पर भी कानूनी कार्रवाई करने की जरूरत है । देश में मोब लिंचिंग का मामला अब ज्यादा देखने को मिलने लगा है जो देश के अंदर पनप रहे उन्मादइयों के तरफ बिहार के मुुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री का ध्यान आकृष्ट करती है ….

क्या बीजेपी की सरकार इसके पहले नहीं आई???

जब बीजेपी सरकार के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई इस देश को चला रहे थे उस वक्त मोब लिंचिंग क्यों नहीं होती थी ???

मोब लिंचिंग इस समय में पॉलीटिकल मर्डर है जो सिर्फ अकलियतों, दलित और कमजोर वर्ग के साथ ही किया जाता है ऐसा क्यों है???

देश के प्रधानमंत्री को इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी, आखिर मोब लिंचिंग के गुनहगारों के साथ बीजेपी के मिनिस्टर और नेताओं का फोटो क्यों आता है???

इसका मतलब है कि सीधे-सीधे बीजेपी और आर०एस० एस के लोग ही मोबलिंचिंग देश में करवा रहे हैं ताकि अकलियतों और दलितों को धमकाना चाहती है।। जवाबदेही तो तय करनी होगी,मगर अब ऐसा नहीं होगा ,, अगर देश के प्रधानमंत्री सच में यह नारा देते है ,,,की सबका साथ सबका विकास,, तो मैं उनसे मांग करता हूं कि देश में अस्थिरता को पैदा होने से पहले मोबलिंचिंग के जो भी आतंकी है उन पर स्पीडी ट्रायल चलाकर सरेआम फांसी की सजा दी जाए ताकि देश में स्थिरता का माहौल बना रहे,,,इस मौके पर जन अधिकार पार्टी के पदाधिकारी, चुनमुन यादव, चंद्रकांत सिंह, खालिकुज्जमा पप्पू , कमलेश यादव, नफीस खान, नौशाद अहमद, मोहम्मद काशिफ,आसिफ हस्नैन, दीपक झा, मोहन यादव,सुभम सिंह,मो० दिलशाद, अंकीत कुमार, सोनू खान, दस्तगीर अंसारी, मोहम्मद इम्तियाज, रिजवी खान, डॉ०नफीस रहमानी, मिन्नतुल्लाह अंसारी,डॉ० वारिस, सुनील कुमार पप्पू, रोहन बिहारी वकार अंसारी मोहम्मद इमरान अंसारी मोहम्मद सिराज खान साकिब खान मोहम्मद चमन मार्शल खान मो०अमन खान, आदि दर्जनों कार्यकर्ता इस मौन जुलूस में मौजूद थे।।।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *